भैया हमारे…

भैया हमारे प्यारे भैया थे तुम दुनिया की पहली झलक से हमारे साथी थे तुम । ज़िंदगी का हर एक दिन, हर एक याद के भागीदार थे… Read more “भैया हमारे…”

कशिश #२

काश तुम हमसे इतना प्यार करते जितना हम तुमसे

तब शायद

दर्द जीने का सहारा नहीं होता

और

मौत ज़िंदगी से मीठी नहीं होती

~ऐश्वर्या सिंग

कशिश #१

आपके बग़ैर ज़िंदगी जेहेर से कड़वी

आपसे दूर हर एक रोज़ हम मौत के क़रीब हो रहें हैं

दर्द की बात तो ये है

की

आपको ये मालूम है

पर इसका एहेसास नहीं

या फिर… इसका अफ़सोस नहीं?

~ऐश्वर्या सिंग